बाबा मोहन राम के भजन लिरिक्स

1. बाबा जी खोलीवाला मनमोहन भोला भाला लिरिक्स

बाबा जी खोलीवाला मनमोहन भोला भाला,

मैं तो हुई रै कुर्बान देखी है जबसे शान,

पर्वत के ऊपर डोले बालक का रूप धरके

धीरे धीरे मुसकाये आखों मैं प्यार भर के

मैं तू दीवानी हो गयी पीछा छूटेगा मर के

सूरत थी भोली भोली कोयल सी मीठी बोली

मार गयी मुसकान देखी है जबसे शान

छोटी छोटी थी गैया छोटी सी लाठी पटके

छोटे छोटे थे संग में सारे वो ग्वाले हटके

छोटी सी बजा मुरलीया नाचे कूदे और मटके

लटकै थी लटा सुनहरी पीपल की छाया गहरी

तोड़ रहे थे तान देखी है जबसे शान

मोटे मोटे थे नैन जिनमे काजल का डोरा

पीताम्बर ओढ़ रखा था श्यामल सा गात किशोरा

तिरछी थी नजर ये प्यारी लेवै था गात हिलोरा

छोरा वो नन्द का लाला बन आया खोलीवाला

खुद कृष्ण भगवन देखी है जबसे शान

मैं तो रह गयी देखती बाबा की अदभुत माया

दासी को दर्श दिखाए पुलकित हो गयी थी काया

रटता हरेराम बैसले प्रियंका भजन सुनाये

आया दो दिन को प्राणी बन्दे तजदे नादानी

धर बाबा का ध्यान देखी है जबसे शान

2. आ जाओ मोहन बाबा हम तुम्हें पुकारते लिरिक्स

आ जाओ मोहन बाबा हम तुम्हें पुकारते

ओ खोली वाले बाबा तेरी राह निहारते॥

तेरे दर पे ओ बाबा जी आये सवाली हैं आये सवाली हैं

भक्तों का अपने बाबा तू ही रखवाली हैं तू ही रखवाली हैं

संकट काटो ओ बाबा हम तुम्हें पुकारते…

तेरी दौज पै ओ बाबा जी करते भंडारा हैं करते भंडारा हैं

नीले घोड़े पै जब आवैं तू लागै प्यारा है तू लागै प्यारा है

आकर कै भोग लगाओ हम तुम्हें पुकारते…

जब जब तेरे भक्तों पै कोई संकट आता है कोई संकट आता है

संकट को दूर भगाने तू दौड़ा आता है तू दौड़ा आता है

तेरे भगत ने गद्दी लगाई मिलकै तुम्हें पुकारते…

मत देर लगाओ बाबा अब जल्दी आ जाओ अब जल्दी आ जाओ

तुम धाम मिलकपुर का बाबा जयकारा लगा जाओ जयकारा लगा जाओ

अमित शर्मा दर्श का प्यासा तू इसको तार दें……

3. आ जाओ मोहन बाबा हम तुम्हें पुकारते लिरिक्स

आ जाओ मोहन बाबा हम तुम्हें पुकारते

ओ खोली वाले बाबा तेरी राह निहारते॥

तेरे दर पे ओ बाबा जी आये सवाली हैं आये सवाली हैं

भक्तों का अपने बाबा तू ही रखवाली हैं तू ही रखवाली हैं

संकट काटो ओ बाबा हम तुम्हें पुकारते…

तेरी दौज पै ओ बाबा जी करते भंडारा हैं करते भंडारा हैं

नीले घोड़े पै जब आवैं तू लागै प्यारा है तू लागै प्यारा है

आकर कै भोग लगाओ हम तुम्हें पुकारते…

जब जब तेरे भक्तों पै कोई संकट आता है कोई संकट आता है

संकट को दूर भगाने तू दौड़ा आता है तू दौड़ा आता है

तेरे भगत ने गद्दी लगाई मिलकै तुम्हें पुकारते…

मत देर लगाओ बाबा अब जल्दी आ जाओ अब जल्दी आ जाओ

तुम धाम मिलकपुर का बाबा जयकारा लगा जाओ जयकारा लगा जाओ

अमित शर्मा दर्श का प्यासा तू इसको तार दें……

RELATED – वृंदा-विष्णु लांवा फेरे

आज गुरुवार है साईं जी का वार है

Leave a Comment