दरबार में कन्हैया देखा अजब नजारा | dekha ajab nazara darbar mein kanhaiya lyrics

dekha ajab nazara darbar mein kanhaiya lyrics

देखा अजब नजारा,
दरबार में कन्हैया,
दुनिया हुई दीवानी,
तेरे प्यार में कन्हैया।।


करते कभी हो जादू,

कभी मारते हो टोना,
सृष्टि चलाते ऐसे,
चाबी भरा खिलौना,
बांधा है तुमने सबको,
एक तार में कन्हैया,
दुनिया हुई दीवानी,
तेरे प्यार में कन्हैया।।


आंखों में बस गया है,

दिलकश तेरा नजारा,
जिसने भी तुमको देखा,
वह हो गया तुम्हारा,
ऐसी कशिश है तेरे,
दीदार में कन्हैया,
दुनिया हुई दीवानी,
तेरे प्यार में कन्हैया।।


कब दिन निकल रहा है,

कब रात हो गई है,
हर वक्त मस्तियों की,
बरसात हो गई है,
बहते ही जा रहे है,
रस धार में कन्हैया,
दुनिया हुई दीवानी,
तेरे प्यार में कन्हैया।।


जालिम तेरी अदाएं,

आँखे तेरी कटारी,
मुस्कान तेरी कातिल,
कैसे बचे बिहारी,
तुम्हें जीत में मजा है,
हमें हार में कन्हैया,
दुनिया हुई दीवानी,
तेरे प्यार में कन्हैया।।


देखा अजब नजारा,

दरबार में कन्हैया,
दुनिया हुई दीवानी,
तेरे प्यार में कन्हैया।।

दरबार में कन्हैया देखा अजब नजारा