थाली भरकर लायी रे खीचड़ो उपर घी की बाटकी भजन लिरिक्स | thali bhar ke layi re khichdo lyrics

RELATED – अरे द्वारपालों कन्हैया से कह दो भजन लिरिक्स | Are Dwarpalo Bhajan Lyrics

थाली भरकर लायी रे खीचड़ो,
उपर घी की बाटकी,
जीमो म्हारा श्याम धणी,
जिमावै बेटी जाट की।।

ये भी देखे – आओ आओ सावरिया बेगा आओ।


बार बार मंदिर ने जुड़ती,

बार बार मैं खोलती,
कईया कोनी जीमे रे मोहन,
करडी करड़ी बोलती,
तू जीमे तो जद मैं जिमूं,
मानू ना कोई लाट की,
जीमो म्हारो श्याम धणी,
जिमावै बेटी जाटी की,
जीमो म्हारा श्याम धणी,
जिमावै बेटी जाट की।।


परदो भूल गई सांवरियो,

परदो फेर लगायो जी,
धावलियो की ओट बैठ के,
श्याम खीचड़ौ खायो जी,
भोला भाला भगता सू,
सांवरिया कइया आंट की।
जीमो म्हारा श्याम धणी,
जिमावै बेटी जाट की।।


थाली भरकर लायी रे खीचड़ो,

उपर घी की बाटकी,
जीमो म्हारा श्याम धणी,
जिमावै बेटी जाट की।।

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *